इतने करोड़ रुपए के मालिक हैं अरविंद केजरीवाल, पांच साल में हुई संपत्ति में बढ़ोत्तरी

राजनीति समाचार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास 3.4 करोड़ रुपए की संपत्ति है और वर्ष 2015 से इसमें 1.3 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। केजरीवाल ने मंगलवार को विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन में जो हलफनामा जमा किया उसके मुताबिक 2015 में उनकी कुल संपत्ति 2.1 करोड़ रुपए की थी। केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल के पास 2015 में नकदी और सावधि जमा (एफडी) 15 लाख रुपए की थी जो 2020 में बढ़कर 57 लाख रुपये हो गया।

रोड शो के दौरान आम आदमी पार्टी के नेता ने बार-बार कहा, “मैं तो फक्कड़ आदमी हूं। मेरे पास पैसे कहां। जेब में सिर्फ 500 रुपए पड़े हैं।” लेकिन जब नामांकन दाखिल किया, तो उनकी संपत्ति ने यह साबित कर दिया कि वो कम से कम फकीर तो नहीं हैं।

बेवकूफ बनाने का आरोप लगा

एचटी के मुताबिक बीएचयू के पूर्व अधिकारी डॉ विश्वनाथ पांडे ने कहा, “आईआईटी खड़गपुर से बीटेक डिग्री रखने वाले शख्स के पास अच्छी खासी चल और अचल संपत्ति होना कोई बड़ी बात नहीं है। खास तौर से तब, जब वो एक आईआरएस अधिकारी भी हो।”

डॉ. पांडे ने कहा, “अरविंद केजरीवाल की पत्नी भी सरकारी अफसर हैं। लेकिन यह शख्स फकीर की छवि गढ़कर काशी के लोगों को बेवकूफ बनाना चाहता है, जो सच नहीं है।”

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति है और वर्ष 2015 से इसमें 1.3 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है. केजरीवाल ने मंगलवार को विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन में जो हलफनामा जमा किया उसके मुताबिक 2015 में उनकी कुल संपत्ति 2.1 करोड़ रुपये की थी. केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल के पास 2015 में नकदी और सावधि जमा (FD) 15 लाख रुपये की थी जो 2020 में बढ़कर 57 लाख रुपये हो गया. पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा कि स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लाभ (वीआरएस) के तौर पर सुनीता केजरीवाल को 32 लाख रुपये और एफडी मिले बाकि उनका बचत धन है.

पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा कि स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लाभ (वीआरएस) के तौर पर सुनीता केजरीवाल को 32 लाख रुपए और एफडी मिले बाकि उनका बचत धन है। मुख्यमंत्री के पास नकदी और एफडी 2015 में 2.26 लाख रुपए की थी जो 2020 में बढ़कर 9.65 लाख हो गई है।

उनकी पत्नी की अचल संपत्ति के मूल्यांकन में कोई बदलाव नहीं हुआ है जबकि केजरीवाल की अचल संपत्ति 92 लाख रुपये से बढ़कर 177 लाख रुपये हो गई। पार्टी के पदाधिकारियों ने बताया कि 2015 में केजरीवाल की जितनी अचल संपत्ति थी, उसके भाव में बढोतरी के कारण यह यह वृद्धि हुई है

केजरीवाल ने मंगलवार को आखिरकार घंटों की देरी के बाद 8 फरवरी को होने जा रहे दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर नामांकनपत्र दाखिल किया. जामनगर हाउस स्थित निर्वाचन अधिकारी (आरओ) के कार्यालय में नामांकन दाखिल करने के लिए केजरीवाल लगभग 12.30 बजे यहां पहुंचे थे और शाम को लगभग 7 बजे वह बाहर आए.

92 लाख का प्लॉट, 1 करोड़ का फ्लैट

नामांकन के मुताबिक बनारस में नरेंद्र मोदी और अजय राय को चुनौती दे रहे केजरीवाल के पास कोई कार नहीं है। उनके पास दो प्लॉट हैं, जिनमें से एक हरियाणा में है। इसके दाम 92 लाख रुपए बताए गए हैं।

उनकी पत्नी के नाम पर गुड़गांव में एक फ्लैट है, जो 1 करोड़ रुपए का है। 2013 में उनका बैंक बैलेंस 1.57 लाख रुपए था, जो अब 4.25 लाख रुपए हो गया। उनके हा‌थ में 15 हजार रुपया है।

पर्चा दाखिल करने के लिए उनका नंबर 45 था. मंगलवार को नामांकनपत्र दाखिल करने का अंतिम दिन था. इस दौरान केजरीवाल के साथ उनके माता-पिता सहित पूरा परिवार, आम आदमी पार्टी (आप) के नेता पंकज गुप्ता और गोपाल मोहन मौजूद रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *